भररोसेमंद हेल्थ चेक-उप पूरे शरीर के लिए

शहरी भारतीयों में पूरे शरीर की जांच के लिए आवश्यकता

शहरी भारत को एक बहुत बड़े संकट का सामना करना पड़ रहा है। लगातार काम के आधुनिक जीवन शैली और प्रदूषित वातावरण में रहने से स्वास्थय में गिरावट आ रही है। हम सभी जानते हैं कि जो रोग हमारे दादा दादी को कभी प्रभावित नहीं करते थे, युवा भारतीयों को प्रभावित करना शुरू कर दिया है। दिल के दौरे जैसे रोग अब तीस वर्ष की आयु में आने लगे है। एक मल्टीनेशनल कंपनी के  युवा अधिकारी तो कसरत करते हुए दिल का दौर पड़ा ।

चार वजहों से पूरे शरीर की स्वास्थ्य की जांच या वार्षिक निवारक स्वास्थ्य जांच बहुत जरूरी है:

काम पर तनाव: हम में से कई लोग एक तनावपूर्ण माहौल में काम करते है जहां 9 से 6 काम करने के बाद भी ऑफिस हमारा पीछा नहीं छोड़ता। हम अपने स्मार्ट फोन और कंप्यूटर में दिन भर में घूर रहते हैं। यह हमारे शरीर में एक विशाल तनाव पैदा करता है। मांसपेशियों / हड्डी में दर्द होने के अलावा आंतरिक अंगों को भी खामियाजा भुगतना पड़ता है। एक पूरे शरीर की स्वास्थ्य जांच (हेल्थ चेक उप ) हमारे शरीर के आंतरिक गिरावट को बाहर ला सकते हैं।

प्रदूषित पर्यावरण: हम शहरों में रहते हैं जहां वायु प्रदूषण दिल के दौरे या मस्तिष्क स्ट्रोक का एक प्रमुख कारण है। हमारा पानी प्रदूषित हो चूका है और हमारा कहना रसायनों और एंटीबायोटिक दवाओं के साथ सजा है। गुर्दे और जिगर हमारे खराब भोजन और पानी का सबसे ज्यादा असर सह रहे है। हार्मोन संतुलन से बाहर वायु प्रदूषण के कारण हो रही है। एक पूरे शरीर के स्वास्थ्य की जांच (हेल्थ चेक उप) में आम तौर पर लिवर फंक्शन टेस्ट, किडनी फंक्शन टेस्ट और थायराइड फंक्शन टेस्ट शामिल होते हैं। इन परीक्षणों पर जल्दी स्वास्थ्य के मुद्दों का पता चलता है । यह हमें जागरूक बनाता है और हमारे स्वास्थ्य का प्रबंधन और / रोगों  के मैनेजमेंट में बेहतर मदद करता है।

व्यायाम का अभाव: अधिकांश डॉक्टरों के अनुसार, 6 किलोमीटर का रोज़ न्यूनतम चलना हमारे स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए आवश्यक है, कम से कम 4 दिनों एक सप्ताह। दिल्ली जैसे शहरों में, घूमना एक लक्जरी बन गया है। डेस्क कंप्यूटर को पूरे दिन घूरना शारीरिक परेशानी और कई और परेशनियों का कारन बनता हैं। एक पूरे शरीर की स्वास्थ्य जांच (हेल्थ चेक उप) हमें नियमित व्यायाम का प्रबंधन करने के लिए प्रोत्साहित कर सकता हैं।

नींद की कमी: सोने पर ज्यादातर अध्ययनों से संकेत मिलता है कि हमें पूरी तरह से आराम करने के लिए आठ घंटे की नींद की आवश्यकता होती है। अध्ययनों से संकेत मिलता है कि एक औसत शहरी भारतीय रोज़ 6.5 घंटे तक की ही नीदं ले पाता है। नींद की कमी हमें थकान और चिढ़ महसूस कराती है। नींद का नियमित आभाव स्वास्थ्य को गंभीर नुकसान पहुंचता है – तेजी से उम्र बढ़ने, बाल गिरने और सूखी त्वचा आदि इसके परिणाम हैं।

LabsAdvisor.com में, वार्षिक हेल्थ चेक उप हम बहुत आसान बनना चाहते है. पूरे शरीर की स्वास्थ्य की जांच करवाने के लिए हम चार निवारक स्वास्थ्य पैकेज लए है जो शरीर के ज्यादातर अंगों को कवर किया और हर बजट के दायरे में आ सकते हैं । पूरे शरीर की जांच करने के लिए होम कलेक्शन की व्यवस्था की है और रिपोर्ट वापस ईमेल से भेजी जाती है । आप नीचे दिए पैकेज में चुने। होम कलेक्शन फ्री है ।

Full Body Health Check Up Name Net Cost Discount # of Parameters
Basic Profile Health Check-up ₹ 700 44% 50
Intermediate Full Body Check-up ₹ 950 44% 34
Complete Body Check-up ₹ 1,400 46% 76
Comprehensive Body Check-up ₹ 2,500 50% 66

अगर आप हमसे बात करना चाहते है तो कॉल करे 09811166231 या ईमेल करे info@labsadvisor.com

नीचे दिया फॉर्म भरे अगर आप वापिस कॉल चाहते है

Leave a Reply

Your email address will not be published.

3 × three =