थायराइड फंक्शन की पूरी जानकारी – टेस्ट की कीमत के साथ / Thyroid Test in Hindi

भारत में थायराइड फंक्शन टेस्ट की गाइड / दिल्ली में थायराइड फंक्शन टेस्ट की कीमत / Thyroid Function Test in Hindi

LabsAdvisor.com, मेडिकल टेस्ट का बहुत बड़ा प्लेटफॉर्म है जो आपको थायरॉयड फंक्शन टेस्ट के बारे में पूरी जानकारी और शरीर में थाइरोइड ग्रंथि के महत्वपूर्ण कार्यों को समझने के लिए थाइरोइड टेस्ट की जानकारी प्रदान करता है। पुरुषों की तुलना में महिलाओं को थायराइड डिसफंक्शन का विकास होने की 10 गुना अधिक सम्भावना होती है। भारत में, थायरॉयड की बीमारी ने महामारी के रूप में जन्म लिया है। इस गाइड के माध्यम से, हम उन प्रमुख सवालों के जवाब देने का प्रयास कर रहे हैं, जिसमें आप थायरॉइड ग्रंथि और इसका कार्यों को जान सकते हैं।

इस सम्पूर्ण गाइड में निम्नलिखित विषयों को शामिल किया गया हैं, जिसमें आप किसी भी भाग को स्वतंत्र रूप से पढ़ सकते हैं:

  1. थायराइड क्या है?
  2. थायराइड रोग के कारण क्या हैं?
  3. भारत में टीएसएच टेस्ट और थायराइड फंक्शन टेस्ट की कीमत क्या है?
  4. थायरॉयड से संबंधित रोग क्या हैं ?
  5. हाइपरथायरायडिज्म क्या हैं और इसके लक्षण क्या हैं?
  6. हाइपोथायरायडिज्म क्या हैं और इसके लक्षण क्या हैं?
  7. थायरॉयड डिसफंक्शन को सुधारने के उपचार क्या हैं?
  8. थायराइड फंक्शन की जांच के लिए कौन-कौन से टेस्ट निर्धारित हैं?
  9. थायरॉयड रोग का टेस्ट किसको कराना चाहिए?
  10. थायराइड टेस्ट की बुकिंग कैसे कर सकते हैं?

यदि आप TSH (थायरॉयड उत्तेजक हार्मोन) टेस्ट या थायराइड फंक्शन टेस्ट / थायराइड प्रोफ़ाइल बुक करना चाहते हैं, तो कृपया हमें 08882668822 पर कॉल करें। हम भारत के विभिन्न शहरों में थाइरोइड परीक्षणों की उचित कीमत पर बुकिंग कर सकते हैं। हम home collection की सुविधा भी प्रदान करते है और परिणाम आपको जल्द से जल्द ईमेल पर और कूरियर द्व्रारा दे दिए जाएंगे।

अगर आप इस टेस्ट को अभी बुक करना चाहतें हैं या इस टेस्ट के बारे में और अधिक जानकरी प्राप्त करना चाहतें है तो नीचे दिए गए फॉर्म में details भरें।

थायराइड क्या है?

थायराइड मानव शरीर के गर्दन क्षेत्र में स्थित एक ग्रंथि है। थायराइड ग्रंथि, थाइरोइड हार्मोन का उत्पादन करती है, और भोजन को ऊर्जा में परिवर्तित करती है यानी शरीर के चयापचय में। थायरॉयड ग्रंथि द्वारा उत्पन्न हार्मोन सही मात्रा में यह सुनिश्चित करता है कि हृदय, लीवर और गुर्दे सहित सभी शरीर के अंग अपने कार्यों को अच्छी तरह से प्रदर्शित कर रहें है।

थायरॉयड ग्रंथि का प्रबंधन पिट्यूटरी ग्रंथि द्वारा किया जाता है जो मस्तिष्क के आधार पर स्थित एक छोटी ग्रंथि है। पिट्यूटरी ग्रंथि थायराइड उत्तेजित हार्मोन (TSH) नामक हार्मोन का उत्पादन करता है जो थायराइड ग्रंथि के कामकाज को नियंत्रित करता है।

यह टेस्ट यह जांचने के लिए किया जाता है कि क्या आपकी थायरॉइड ग्रंथि ठीक से काम कर रही हैं, डॉक्टर आमतौर पर हार्मोन के टेस्ट के अलावा टीएसएच टेस्ट भी लिखते हैं जो थायरॉयड ग्रंथि ही पैदा करती है।

थाइरोइड ग्लैंड की जानकारी

TSH या उत्तेजक थायरॉयड हार्मोन का निर्माण हमारे मस्तिस्क में मौजूद पिट्यूटरी ग्रंथि के द्वारा होता है। TSH (उत्तेजक थायरॉयड हार्मोन) थायरॉयड ग्रंथि के कामकाज को नियंत्रित करता है व इसके माध्यम से T3 और T4 हार्मोन के उत्पादन को नियंत्रित करता है। T3 और  T4 चयापचय (जैविक प्रक्रियाओं),  ऊर्जा उत्पादन और मूड नियंत्रण के साथ -साथ शरीर में अन्य कार्यो नियंत्रित करता है।

थायराइड रोग के कारण क्या हैं?

कोई भी थायराइड डिसफंक्शन को विकसित कर सकता है और इसके कारणों को जाना नहीं जा सकता। यह आम तौर पर भारतीय पुरुषों की तुलना में भारतीय महिलाओं पर ज्यादा प्रभाव डालता है। मध्य आयु वर्ग की महिलाओं में इसके अधिक होने की अधिक संभावना होती हैं लेकिन युवा महिलाओं को भी खतरे में रहना पड़ता है। ऐसे चार कारक हैं जो कि थायरॉयड रोग के लिए योगदान दे सकते हैं:

तनाव: कुछ अध्ययनों से पता चला है कि तनाव और थायराइड रोग के विकास के बीच संबंध है। तनाव से कोर्टिसोल नामक हार्मोन का उत्पादन होता है, जो थायराइड उत्तेजक हार्मोन (TSH) के उत्पादन पर प्रभाव डालता है, जो थायरॉयड रोगों की ओर जाता है। थायरॉयड रोग में तनाव की भूमिका के बारे में और अधिक पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें। 

कुछ खाद्य पदार्थों से बचाना चाहिए: उच्च चीनी पेय, चीनी के विकल्प और फैट विकल्प जैसे कुछ खाद्य पदार्थ थायराइड समारोह के लिए खराब हो सकते हैं। इसके अलावा, कुछ सब्जियां जिन्हें क्रसफेरस सब्जी कहते हैं जिनमें गोभी, फूलगोभी, वाटरकार्स और अन्य सब्ज़ियां है, जिन्हें खाने से पहले पकाया या उबाला जाता है। इन सब्जियों में कच्चे रूप से गिट्रोगेंस होते हैं, जो थायराइड फ़ंक्शंस पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकते हैं। इनके बारे में और यहाँ पढ़ें।

विटामिन डी की कमी: विटामिन डी की कमी के कारण शरीर पर कई नकारात्मक प्रभाव पड़ सकते हैं जिनमें थायरॉयड ग्रंथि के कार्य के प्रभाव भी शामिल हैं।
यह देखते हुए कि विटामिन डी के शरीर में कई महत्वपूर्ण कार्य हैं और भारतीय लोग विटामिन डी की कमी की महामारी का सामना कर रहे हैं, तो आप अपने विटामिन डी स्तरों की जांच कर सकते हैं। यहां विटामिन डी की कमी के बारे में और यहाँ पढ़ें।

पर्यावरण कारक: PFCs जो पानी प्रतिरोधी कपड़ों और non stick वाले cookware में उपयोग किया जाता है, अगर ख़तरे अधिक है तो थायराइड पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। प्लास्टिक्स में उपयोग किए जाने वाले फ़्लेटलेट का एक्सपोजर भी टाला जाना चाहिए। पर्यावरण विषाक्त पदार्थों के बारे में अधिक जानकारी आप यहाँ पा सकते है।

भारत में टीएसएच टेस्ट और थायराइड फंक्शन टेस्ट की कीमत क्या है?

थायराइड फ़ंक्शन टेस्ट या थायराइड प्रोफ़ाइल की कीमत शहर और आपके द्वारा चुनी गई लैब के आधार पर भिन्न हो सकती है। हमने थायरॉयड टेस्ट की कीमत को नीचे सूचीबद्ध किया है जो विभिन्न शहरों में LabsAdvisor.com द्वारा उपलब्ध है। आप अपने टेस्ट को ऑनलाइन बुक करने के लिए लिंक पर क्लिक कर सकते हैं। आप LabsAdvisor के द्वारा दिल्ली, गुड़गांव, नोएडा और भारत के 150 से अधिक अन्य शहरों में थायरॉयड फ़ंक्शन टेस्ट की बुकिंग कर सकते हैं।

भारत में थायराइड फंक्शन टेस्ट की कीमत न्यूनतम कीमत
दिल्ली में थायराइड फंक्शन टेस्ट की कीमत ₹ 308
गुडगाँव में थायराइड फंक्शन टेस्ट की कीमत ₹ 320
नॉएडा में थायराइड फंक्शन टेस्ट की कीमत ₹ 320
मुंबई में थायराइड फंक्शन टेस्ट की कीमत ₹ 320
लखनऊ में थायराइड फंक्शन टेस्ट की कीमत  ₹ 320
फरीदाबाद में थायराइड फंक्शन टेस्ट की कीमत   ₹ 320
बेंगलुरु में थायराइड फंक्शन टेस्ट की कीमत ₹ 320
इलाहाबाद में थायराइड फंक्शन टेस्ट की कीमत ₹ 320
चेन्नई में थायराइड फंक्शन टेस्ट की कीमत ₹ 320

 

भारत में TSH टेस्ट की कीमत

न्यूनतम कीमत
दिल्ली में TSH टेस्ट की कीमत ₹ 113
गुडगाँव में TSH टेस्ट की कीमत ₹ 180
नॉएडा मेंTSH टेस्ट की कीमत ₹ 200
मुंबई में TSH टेस्ट की कीमत ₹ 206
लखनऊ में TSH टेस्ट की कीमत  ₹ 270
फरीदाबाद में TSH टेस्ट की कीमत   ₹ 188
बेंगलुरु में TSH टेस्ट की कीमत ₹ 175
गाज़ियाबाद  में TSH टेस्ट की कीमत ₹ 113
इलाहाबाद में TSH टेस्ट की कीमत   ₹ 270
चेन्नई में TSH टेस्ट की कीमत ₹ 170

थाइरोइड फ़ंक्शन टेस्ट या टीएसएच टेस्ट बुक करने के लिए हमें 08882668822 पर कॉल करें।

थायराइड से जुड़े रोग क्या हैं?

विभिन्न प्रकार के रोग हैं जो थायराइड ग्रंथि को प्रभावित कर सकते हैं। ये प्रमुख रोग हैं:

ओवरएक्टिव थायरॉयड ग्रंथि: थाइरॉयड हार्मोन का प्रकोप हाइपरथायरायडिज्म नामक विकार में होता है। यह स्थिति बहुत तेजी से शरीर की चयापचय में होती है और इसमें कई नकारात्मक परिणाम हो सकते हैं। इन अनुभागों को अगले भाग में कवर किया गया है।

अंडरएक्टिव थायरॉयड ग्रंथि: यदि थायरॉयड हार्मोन का उत्पादन सामान्य से कम है, तो हाइपोथायरायडिज्म होता है। इस परिस्थिति में शरीर का चयापचय धीमा पड़ता है जिसके परिणाम स्वरूप वजन में वृद्धि होती है। इसका विस्तार अगले अध्याय में शामिल है।

बढ़ी हुई थायरॉयड ग्रंथि: गोइटर नामक इस अवस्था में असामान्य आकार की थायरॉयड ग्रंथि हो सकती है। ये ग्रंथि बहुत कम या बहुत अधिक थायराइड हार्मोन पैदा कर सकती है।

हाइपरथायरायडिज्म क्या है और इसके लक्षण क्या हैं ?

हाइपरथाइरॉयडिज़्म- TSH की अधिकता

शरीर में थायरॉइड हार्मोन का अधिक उत्पादन हाइपरथायरायडिज्म कहलाता है। हाइपरथाइरॉयडिज़्म से पीड़ित लोगों का वजन घटता है, हाइपरथायरायडिज्म के महत्वपूर्ण लक्षण हैं:

हाइपरथाइरॉयडिज़्म के लक्षण है

  • मांसपेशियों में कमजोरी व थकान
  • हाथ कपकपाना
  • मूड में परिवर्तन
  • घबराहट या चिंता होना
  • अनियमित दिल की धड़कन
  • रूखी त्वचा
  • नींद न आना
  • वजन घटना
TSH_Test_Hyperthyroidism_LabsAdvisor
Symptoms of Hyperthyroidism

हाइपोथायरायडिज्म क्या है और इसके लक्षण क्या हैं ?

हाइपोथाइरॉयडिज़्म – TSH की कमी

थायराइड हार्मोन की कमी को हाइपोथायरायडिज्म कहा जाता है। इससे व्यक्ति में निम्न बीमारियां होने की संभावना होती है। हाइपोथायरायडिज्म के प्रमुख लक्षण निम्न हैं:

हाइपोथाइरॉयडिज़्म की लक्षण है

  • थकान व कमजोरी
  • नींद न आना
  • बहुत अधिक खाने के बिना और व्यायाम में बदलाव किए बिना वज़न का बढ़ना
  • रूखी त्वचा और बाल
  • निम्न हृदय गति
  • ठंड लगना, जब दूसरों को ठीक महसूस होता है।

कुछ अनुमानों के मुताबिक, 10 में से 1 हाइपोथायरायडिज्म से पीड़ित हैं, जबकि इस स्थिति की जानकारी कम होती है। अधिक जानने के लिए यहां पढ़ें। 

TSH_Test_Hypothyroidism_LabsAdvisor
Symptoms of Hypothyroidism

थायरॉयड रोग के उपचार क्या हैं?

यदि थायराइड की बीमारी समय में पकड़ी जाती है, तो दवाई हालत के प्रबंधन में मदद कर सकती है। सही उपचार योजना का पालन करने के लिए हमेशा डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए। कुछ अध्ययनों के अनुसार, निम्नलिखित चरण उचित थायरॉयड कार्य करने में मदद कर सकते हैं:

तनाव को कम करें: चूंकि तनाव में कोर्टिसोल का उत्पादन होता है, जिससे थायराइड फंक्शन पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है, चिंता के माध्यम से तनाव कम करने, सकारात्मक विचार या अपने पर्यावरण को बदलने से थायराइड प्रबंधन में मदद मिल सकती है।

पूरक आहार: आयोडाइन और विटामिन सी, ई और डी जैसे पूरक से थायराइड फंक्शन को मजबूत करने में मदद मिल सकती है अगर थायरॉयड इन पोषक तत्वों की कमी के कारण होता है।

सोया उत्पादों और ग्लूटेन को छोड़ दें: कुछ अध्ययनों से पता चलता है कि सोया और ग्लूटेन का प्रभाव थायराइड फंक्शन पर नकारात्मक पड़ता है। इन घटकों को कम करने से थायराइड फंक्शन में मदद मिल सकती है।

थायरॉयड रोगों के प्रबंधन के लिए आप क्या कर सकते हैं, के बारे में और जानने के लिए, यहां जांचें।

थायराइड फंक्शन की जांच के लिए कौन-कौन से टेस्ट निर्धारित हैं?

निम्न टेस्ट आम तौर पर थायरॉयड फंक्शन की जांच के लिए सिफारिश किए जाते हैं :

  • TSH या थायरॉयड उत्तेजक हार्मोन – टीएसएच का निर्माण पिट्यूटरी ग्रंथि द्वारा किया जाता है और यह थायरॉयड ग्रंथि द्वारा निर्मित थायरॉयड हार्मोन के उत्पादन को उत्तेजित करता है।
  • T3 – थायरॉयड ग्रंथि द्वारा निर्मित हार्मोन में से एक
  • T4 – थायरॉयड ग्रंथि द्वारा निर्मित हार्मोन में से एक

उपरोक्त टेस्ट आमतौर पर थाइरोइड फ़ंक्शन टेस्ट या थायरॉयड प्रोफाइल नामक पैकेज में टेस्ट किए जाते हैं।

थायरॉयड रोग का टेस्ट किसको कराना चाहिए?

हम अनुशंसा करते हैं कि थायरॉयड फ़ंक्शन टेस्ट आपको annual preventive health tests के भाग के रूप में कराना चाहिए। 40 से अधिक आयु वर्ग की महिलाओं को यह टेस्ट सालाना किया जाना चाहिए। थायरॉयड रोग के लक्षण वाले पुरुषों और महिलाओं के लिए, थायरॉयड टेस्ट तुरंत किया जाना चाहिए। भारत में कुछ अध्ध्यनों में यह दिखाया गया है कि अधिकांश लोगों को यह नहीं पता है कि उन्हें थायरॉयड विकार हैं क्योंकि इसके लक्षण सामान्य प्रकृति में होते हैं। हालांकि, अच्छी तरह से प्रबंधित करने में जल्दी से थायरॉइड विकार को पकड़ना महत्वपूर्ण है।

थायरॉयड टेस्ट की बुकिंग कैसे कर सकते हैं?

भारत में बुकिंग करने के लिए 08882668822 पर कॉल करें। अगर आप कॉल वापसी चाहतें हैं तो इस लेख के शुरू में दिए गए फॉर्म में अपनी details भरें। आप ऑनलाइन बुकिंग के लिए हमारी एनरोइड एप्प ‘LabsAdvisor’ को गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं।

अन्य सम्बंधित लेख:

मेडिकल टेस्ट के बारे में आपको जानकारी और पारदर्शिता देने के लिए LabsAdvisor.com कड़ी मेहनत कर रहा है। आप नीचे दिए गए अन्य लेखों को भी पढ़ सकते हैं:

  1. Complete guide to MRI tests in Delhi / NCR
  2. Complete guide to liver function tests in India
  3. Vitamin D test and deficiency for India
  4. Hepatitis B क्या है और Hepatitis B की कीमत क्या है?
  5. भारत के विभिन्न शहरों में CBC टेस्ट की कीमत जानें और बुक करें।
  6. हेपेटाइटिस सी के कारण, लक्षण और कीमत क्या है?
  7. दिल्ली, गुड़गांव, नोएडा में 3 टेस्ला एमआरआई स्कैन की कीमत जानें।
  8. भारत में डीएनए पैटरनिटी टेस्ट की गाइड।

5 thoughts on “थायराइड फंक्शन की पूरी जानकारी – टेस्ट की कीमत के साथ / Thyroid Test in Hindi

Your comments keep us going. Leave a note

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s